भारत के दिग्गज फुटबॉलर पीके बनर्जी का निधन, 83 साल की उम्र में ली आखिरी सांस

प्रदीप कुमार बनर्जी का जन्म 23 जून 1936 को ब्रिटिश भारत के बंगाल प्रेसीडेंसी के जलपाईगुड़ी में हुआ था। 15 साल की उम्र मे ही पीके ने संतोष ट्रॉफी में बिहार का प्रतिनिधित्व किया था।

भारत के दिग्गज फुटबॉलर रहे पीके बनर्जी का शुक्रवार को निधन हो गया। एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक विजेता बनर्जी का लंबी बिमारी के चलते कोलकाता में निधन हो गया। काफी समय से वह निमोनिया और श्वास की बिमारी से जूझ रहे थे। पीके बनर्जी 83 साल के थे। भारतीय फुटबाल टीम के कप्तान रह चुके प्रदीप बनर्जी ने 51 सालों तक भारतीय फुटबाल की सेवा की। एशियाई फुटबालर परिसंघ (एएफसी) ने पीके बनर्जी के निधन पर शोक जताया है।

एएफसी ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘ हम भारत के पूर्व कप्तान, कोच और तकनीकी निदेशक प्रदीप कुमार बनर्जी के निधन पर शोक जताते हैं।’ बनर्जी के परिवार में उनकी पाउला और पूर्णा है। इसके अलावा उनके छोटे भाई प्रसून बनर्जी तृणमूल कांग्रेस से सांसद है।

प्रदीप कुमार बनर्जी का जन्म 23 जून 1936 को ब्रिटिश भारत के बंगाल प्रेसीडेंसी के जलपाईगुड़ी में हुआ था। 15 साल की उम्र मे ही पीके ने संतोष ट्रॉफी में बिहार का प्रतिनिधित्व किया था। तीन एशियन गेम्स में भारत का प्रतिनिधित्व कर चुके पीके उस स्वर्णिम दौर के साक्षी है। जब भारत ने सन् 1962 में जकार्ता में हुए एशियन गेम्स में स्वर्ण पदक जीता था। इसके अलावा उन्होंने 1956 में हुए मेलबर्न ओलंपिक में भी भारत का प्रतिनिधित्व किया था। पीके बनर्जी ने भारत के लिए खेले गए 84 मैचों में 65 गोल दागे है।

पीके बनर्जी का भारतीय फुटबाल में अहम योगदान रहा है। जिसके लिए उन्हें फीफा ने 2004 में अपने 100 साल पूरे होने पर ऑर्डर ऑफ मेरिट से सम्मानित किया था। पीके बनर्जी के निधन के बाद पूरे देश में शोक की लहर दौड़ पड़ी। सचिन और सौरव समेत कई खिलाड़ियों ने उन्हें श्रद्धांजलि दी है।

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं