पैडी अपटन का बड़ा बयान, आईपीएल ना हुआ तो कई क्रिकेटर हो सकते हैं डिप्रेशन का शिकार

पैडी अपटन का कहना है कि अगर आईपीएल नहीं हुआ तो कई प्रतिभाशाली खिलाड़ी डिप्रेशन और एंग्जाइटी का शिकार हो सकते हैं।

कोरोना वायरस की वजह से भारत की सबसे महंगी लीग आईपीएल यानी इंडियन प्रीमियर लीग पर रद्द होने का खतरा मंडरा रहा है। पहले इसकी शुरूआत 29 मार्च से होने वाली थी, जिसे 15 अप्रैल तक टाल दिया गया। लेकिन जिस तरह से भारत में तेजी से कोरोना वायरस के मामले बढ़ते जा रहे हैं इसे देखते हुए आईपीएल का होना मुश्किल लग रहा है।

कोरोना के खिलाफ जंग में इंग्लैंड के क्रिकेटर करेंगे अपनी सैलरी…

आईपीएल को लेकर दिग्गज अपनी राय रख रहे हैं। इस बीच भारतीय क्रिकेट टीम के कोचिंग स्टाफ का हिस्सा रहे पैडी अपटन का बयान सामने आया है। उनका कहना है कि अगर आईपीएल नहीं हुआ तो कई प्रतिभाशाली खिलाड़ी डिप्रेशन और एंग्जाइटी का शिकार हो सकते हैं। पैडी अपटन 2011 वर्ल्ड कप के दौरान टीम इंडिया के मेंटल कंडिश्निंग कोच थे। देश में जारी 21 दिन के लॉकडाउन को लेकर पैडी ने मीडिया से बात की और बताया कि इतना लंबा ब्रैक आने के बाद खिलाड़ी ही नहीं बल्कि लोगों की मानसिक सेहत पर भी असर पड़ेगा। लोगों में असुरक्षा और तनाव की भावना बढ़ेगी। लोगों को इस वक्त कई तरह की चुनौतियों का सामना करना पड़ा रहा है। इनमें प्रोफेशनली और फाइनेंशियली कड़ी चुनौती है।

कोरोना वायरस को हराने के लिए हॉकी इंडिया ने 1 करोड़…

टीम इंडिया के इस पूर्व मेंटल कंडिश्निंग कोच का कहना है कि मैं खिलाड़ियों ही नहीं बल्कि सभी लोगों से यह कहना चाहता हूं कि वो मौजूदा स्थिति में ज्यादा ना सोचे। क्योंकि इस माहौल में एथलीट्स ही नहीं अगर सामान्य व्यक्ति भी खुद को लेकर ज्यादा सोचता है तो उसके लिए भी चिंता बढ़ सकती हैं। उन्होंने यह भी बताया कि जो खिलाड़ी क्रिकेट के आलावा दूसरे खेलों में भी रुची रखते हैं तो उनका इस मुश्किल से निकना फिर भी आसान है। लेकिन जो खिलाड़ी पूरी तरह क्रिकेट पर ही अपना सारा ध्यान लगाते हैं उनके लिए यह चिंता बढ़ाने वाला दौर है।

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है