हॉकी वर्ल्ड कप विजेता टीम के पूर्व खिलाड़ी अमेरिका में फंसे, खेल मंत्री ने दिया मदद का आश्वासन

अशोक दीवान उस भारतीय हॉकी टीम के गोलकीपर थे जिसने 13 मार्च 1975 में पहली बार हॉकी वर्ल्ड कप में जीत दर्ज की थी।

कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने के लिए कई देशों ने लॉकडाउन किया हुआ है। ऐसे में कुछ लोग अपने देश नहीं लौट पा रहे। विश्व कप विजेता हॉकी टीम का हिस्सा रहे भारत के पूर्व हॉकी खिलाड़ी अशोक दीवान अमेरिका में फंस गए हैं। उन्होंने भारत सरकार से मदद की गुहार लगाई है। 65 वर्षीय पूर्व ओलंपियन का कहना है कि वो अस्वस्थ भी हैं।

आईपीएल के 13वें सीजन से ज्यादा महत्वपूर्ण जनसुरक्षा, हम सरकार के…

जिसके बाद खेल मंत्री किरन रिजीजू ने ट्वीट कर अशोक दीवान को मदद का भरोसा दिलाया है। खेल मंत्री ने ट्विटर पर कहा कि हॉकी ओलंपियन अशोक दीवान अमेरिका में फंसे हैं और उनकी तबियत भी खराब है।  सैन फ्रांसिस्को में भारतीय दूतावास से संपर्क कर उनके पास मदद के लिए चिकित्सक भेजे गए हैं। ताकि उनका उपचार हो सके।

पूर्व ओलंपियन की बेटी आरूषी ने बताया कि मेरे पिता दिसंबर में अमेरिका गए थे और उन्हें 20 अप्रैल को भारत आना था। वहा मेरे भाई से मिलने वहां गए थे। उन्हें हृदय संबंधी समस्या हो गई है। उनकी सहायता के लिए अमेरिका में अकेल भाई है। वह और उनकी मां यहां असहज महसूस कर रही है।

कोरोना संकट: ISSF रनिंग टारगेट विश्व चैम्पियनशिप भी स्थगित

बता दें, अशोक दीवान ने 1976 ओलंपिक खेलों में भारत का प्रतिनिधित्व किया था। वहीं इससे पहले अशोक दीवान उस भारतीय हॉकी टीम के गोलकीपर थे जिसने 13 मार्च 1975 में पहली बार हॉकी वर्ल्ड कप में जीत दर्ज की थी। उन्हें पिछले साल खेल मंत्री ने सम्मानित किया था। अशोक दीवान ने भारतीय ओलिंपिक एसोसिएशन के अध्यक्ष नरिंदर बत्रा को पत्र लिखकर मदद की गुहार लगाई थी।

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है