इस पूर्व खिलाड़ी ने किया खुलासा, क्रिकेट से 30 लाख रुपये कमाकर रांची में सेट होना चाहते थे धोनी

0
22

धोनी ने दिसंबर 2004 में अपने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट करियर की शुरूआत की थी। जिसके बाद उन्होंने कभी पीछे मुडकर नहीं देखा। उन्होंने भारत को 2007 में आईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप और 2011 में वनेड वर्ल्ड कप दिलाया है।

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के चाहने वालों की संख्या कुछ कम नहीं है। वो भारत में ही नहीं विदेशों में भी पसंद किए जाते हैं। मैदान में जब भी बल्ला लेकर धोनी उतरते थे तो दर्शक उनके समर्थन में चिल्लाने लगते थे। आज उन्होंने क्रिकेट में वो मुकाम हासिल कर लिया है जिसकी चाहत हर क्रिकेटर रखता है।

धोनी ने दिसंबर 2004 में अपने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट करियर की शुरूआत की थी। जिसके बाद उन्होंने कभी पीछे मुडकर नहीं देखा। उन्होंने भारत को 2007 में आईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप और 2011 में वनेड वर्ल्ड कप दिलाया है। धोनी दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों और विकेटकिपरों में से एक हैं। उन्होंने खुद भी नहीं सोचा था कि वो अपने करियर में इतना लंबा टिकेंगे। इस बात का खुलासा उनके ही एक साथी खिलाड़ी ने किया है। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व खिलाड़ी और धोनी के साथ ड्रेसिंग रूम साझा करने वाले वसीम जाफर ने बताया कि माही क्रिकेट में 30 लाख रुपये कमाने के बाद रांची में सेट होना चाहते थे।

कोरोना वायरस का भारत में बढ़ता प्रकोप, IPL पर रद्द होने…

छोटे शहरों से आने वाले खिलाड़ियों की तरह ही धोनी भी चाहत कम ही थी। उनके करियर के शुरूआती दौर में उनके साथ खेलने वाले वसीम जाफर ने बताया कि धोनी क्रिकेट में 30 लाख रुपये कमाने की चाहत रखते थे। ताकि धोनी रांची में शांति से अपना जीवन बिता सके। वसीम जाफर ने इसी साल क्रिकेट के तीन फॉर्मेट से सन्यास लिया है। उन्होंने ट्वीटर पर फैंस से बातचीत के दौरान धोनी के बारे में यह बात कही है।

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं