एशियाई चैंपियन पूजा रानी (75 किग्रा) और राष्ट्रमंडल खेलों के स्वर्ण पदक विजेता विकास कृष्णन (69 किग्रा) ने ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया।

भारत के पांच मुक्केबाजों ने टोक्यो ओलंपिक का कोटा हासिल कर लिया है। जॉर्डन के ओम्मान से आई इस खुशखबरी ने होली का मजा दोगुना कर दिया। इन मुक्केबाजों ने एशिया/ओसनिया ओलंपिक क्वालिफायर मुक्केबाजी टूर्नामेंट में अपने अपने मुकाबले जीतकर भारतीयों को तोहफा दिया है।

एशियाई चैंपियन पूजा रानी (75 किग्रा) और राष्ट्रमंडल खेलों के स्वर्ण पदक विजेता विकास कृष्णन (69 किग्रा) ने ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया। इसी के साथ सतीश कुमार (91 किग्रा प्लस), आशीष कुमार (75 किग्रा) और लवलीना बोगोर्हेन (69 किग्रा) ने भी सेमीफाइनल में पहुंच कर ओलम्पिक कोटा हासिल किया। जॉर्डन के ओम्मान में चल रहे एशिया-ओसेनिया ओलंपिक क्वालीफायर में बेहतरीन प्रदर्शन किया। दो मुक्कबाजों ने 75 किग्रा वर्ग में जीत हासिल की। जहां पूजा रानी ने थाईलैंड की पोम्नीपा क्यूटी को 5-0 से हराया। इसी के साथ अशीष कुमार ने इंडोनेशिया के बॉक्सर को बाहर का रास्ता दिखाकर मुकाबला जीता।

आईपीएल पर मंडरा रहा कोरोना का खतरा, क्या रद्द होगी भारत की सबसे महंगी क्रिकेट लीग?

वहीं दो मुक्केबाजों ने 69 किलोग्राम वर्ग में अपने विरोधी को हराया। जिनमें विकास कृष्णन और लवलीना बोगोर्हेन शामिल है। विकास ने जापान के सेवोनरेट्स ओकाजावा को 5-0 से हराया। लवलीना ने ज्बेकिस्तान की मख्तूनखोन मेलीवा को हराया। लवलीना पहली बार ओलंपित खेलेंगी। पूजा टोक्यो के लिए क्वालीफाई करने वाली पहली भारतीय मुक्केबाज बनीं। उन्होंने 75 किलोग्राम वर्ग में थाईलैंड की पोमनीपा चूटी को 5-0 से हराया। सचिन कुमार (81 किग्रा) टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने से चूक गए। उन्हें चीन के राष्ट्रीय चैम्पियन दाक्साइंग चेन से 2-3 से हरा दिया।

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं