दिलीप वेंगसरकर का बड़ा खुलासा, धोनी नहीं चाहते थे कि कोहली टीम इंडिया के लिए खेले

टीम इंडिया के पूर्व चीफ सेलेक्टर दिलीप वेंगसरकर का कहना है कि 2008 में महेंद्र सिंह धोनी नहीं चाहते थे कि विराट कोहली भारतीय टीम का हिस्सा बने।

भारतीय क्रिकेट टीम को बुलंदियों तक ले जाने में महेंद्र सिंह धोनी और विराट कोहली का बड़ा योगदान है। सीनियर खिलाड़ियों के जाने के बाद इन दोनों ने ही टीम इंडिया का भार अपने कंधों पर उठाया है। ये दोनों एक दूसरे की काफी इज्जत करते हैं और इनमें कभी कोई विवाद भी देखने को नहीं मिला। लेकिन टीम इंडिया के पूर्व सेलेक्टर दिलीप वेंगसरकर ने हैरान कर देने वाला खुलासा किया है।

Coronavirus: यह महिला हॉकी खिलाड़ी नर्स के रुप में कर रही…

टीम इंडिया के पूर्व चीफ सेलेक्टर दिलीप वेंगसरकर का कहना है कि 2008 में महेंद्र सिंह धोनी नहीं चाहते थे कि विराट कोहली भारतीय टीम का हिस्सा बने। दिलीप वेंगसरकर ने बताया कि अंडर 19 वर्ल्ड कप कोहली की कप्तानी में टीम जीती और उन्होंने बेहतरीन प्रदर्शन भी किया। जिस वजह से हमने कोहली को टीम इंडिया के लिए चुना। लेकिन धोनी नहीं चाहते थे कि विराट कोहली टीम इंडिया के लिए खेले। उन्होंने आगे बताया कि मैं और मेरी सेलेक्शन कमेटी हमेशा युवा खिलाड़ियों को मौका देती रही। धोनी और चीफ कोच कर्स्टन इसके पक्ष में नहीं थे। उनका कहना था कि हमने कोहली को खेलते हुए नहीं देखा जिस वजह से वो टीम में कोई बदलाव नहीं करना चाहते हैं।

दिलीप वेंगसरकर ने एक निजी चैनल से बात करते हुए इसका खुलासा किया है। उन्होंने बताया कि मैं और मेरी सेलेक्शन कमेटी अपने फैसले पर अड़े रहे और विराट कोहली का चुनाव टीम में संभव हुआ। वेंगसरकर ने बताया कि कोहली तकनीकी रुप से मददगार थे। जिस वजह से हम उन्हें टीम का हिस्सा बनाना चाहते थे।

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है