टोक्यो ओलंपिक पर कोरोना का खतरा

आईओसी के बढ़ते दबाव के बाद जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने कहा कि खेलों का आयोजन करना मुश्किल होता जा रहा है। खिलाड़ियों की सुरक्षा को देखते हुए ओलंपिक को रद्द किया जा सकता है।

कोरोना वायरस पर लगाम लगाना मुश्किल होता जा रहा है। इस वायरस ने हर किसी को प्रभावित किया है। खेलों पर भी इसका असर हुआ है। बड़े-छोटे हर टूर्नामेंट को कोरोना वायरस की नजर लगी है। अब इसका खतरा टोक्यो ओलंकपिक पर भी मंडरा रहा है। इसे लेकर जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे का बड़ा बयान सामने आया है। उनका कहना है कि अगर कोरोना वायरस का असर कम नहीं हुआ और यह ऐसे ही बढ़ता रहा तो टोक्यो ओलंकपिक को रद्द करने के अलावा को विकल्प नहीं बचेगा।

भारत के दिग्गज फुटबॉलर पीके बनर्जी का निधन, 83 साल की उम्र में ली आखिरी सांस

इस बात पर तो पहले से ही चर्चा हो रही थी कि ओलंपिक अपने तय समय से शुरू नहीं होगा। 24 जुलाई से टोक्यो ओलंपिक आगाज होना था। लेकिन जिस तरह से कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया को घुटने टेकने पर मजबूर कर दिया है। उसे देखते हुए लगता है कि इस साल होने वाले ओलंपिक को रद्द किया जा सकता है। अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (IOC) के बढ़ते दबाव के बाद जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने कहा कि खेलों का आयोजन करना मुश्किल होता जा रहा है। खिलाड़ियों की सुरक्षा को देखते हुए ओलंपिक को रद्द किया जा सकता है।

बता दें, कोरोना वायरस की वजह से कई देशों को लॉकडाउन किया हुआ है। डॉक्टर अपनी जान की परवाह ना करते हुए कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने को कोशिश कर रहे हैं। दुनियाभर के करीब 189 देश इस जानलेवा वायरस की चपेट में हैं। अमेरिका से लेकर चीन, इटली जैसे बड़े देश भी कोरोना वायरस की मार झेल रहे हैं।

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं