बर्थडे स्पेशल: बापू नाडकर्णी को कहा जाता है कंजूस बॉलर, लगातार किए थे 21 मेडन ओवर

0
16

बापू नाडकर्णी को लगातार 21 मेडन ओवर फेंकने के लिए हमेशा याद किया जाता है। उनका जन्म 1933 में महाराष्ट्र के नासिक में हुआ था। वो एक बेहतरीन ऑलराउंडर थे।

आज भारतीय क्रिकेट टीम के उस गेंदबाज का बर्थडे है जिसे कंजूस बॉलर के नाम से जाना जाता था। अगर आप क्रिकेट प्रेमी है तो जरूर आपने उनका नाम सुना होगा। अपनी गेंदबाजी से अच्छे अच्छे बल्लेबाज को चकमा देने वाले बापू नाडकर्णी का आज जन्मदिन है।

बापू नाडकर्णी को लगातार 21 मेडन ओवर फेंकने के लिए हमेशा याद किया जाता है। उनका जन्म 1933 में महाराष्ट्र के नासिक में हुआ था। वो एक बेहतरीन ऑलराउंडर थे। उन्होंने 41 टेस्ट मैच खेले, जिसमें उन्होंने 88 विकेट झटके और 1414 रन बनाए। बापू नाडकर्णी का बेहतरीन प्रदर्शन 43 रन देकर 6 विकेट लेना है। बापू नाडकर्णी ने 1955 में न्यूजीलैंड के खिलाफ पदार्पण किया था और अंतिम मैच भी 1968 में न्यूजीलैंड के खिलाफ ही खेला था।

Coronavirus: हरभजन सिंह और रवि शास्त्री ने किया पीएम मोदी की…

जब उन्होंने एक बार इंग्लैंड के बल्लेबाजों को रनों के लिए तरसा दिया था और 131 गेंद पर एक भी रन नहीं बनने दिया। 1964 में मद्रास के नेहरू स्टेडियम में इंग्लैंड टीम के खिलाफ उन्होंने कुल 27 ओवर मेडन फेंके। जिसमें से उन्होंने लगातार 21 ओवन मेडन किए थे। आईसीसी ने आज बापू नाडकर्णी को याद करते हुए ट्वीट किया है। जब उनका निधन हुआ था तो सचिन तेंदुलकर ने ट्वीट करते हुए कहा था कि मैं आपके बोलिंग के रिकॉर्ड सुनते हुए बड़ा हुआ हूं, मेरी तरफ से श्रद्धांजलि।

देश हमेशा बापू नाडकर्णी को याद करेगा। हर खिलाड़ी उनके जैसा बनने की चाहत रखता है। उन्होंने ना सिर्फ अपनी गेंदबाजी में जलवा दिखाया है बल्कि बल्लेबाजी से भी लोगों को अपने खेल का दिवाना बनाया। जब भी वो क्रिकेट मैदान में बल्ला लेकर उतरते थे तो दर्शक झूम उठते थे।

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है