बिहार चुनाव को लेकर कांग्रेस की तैयारी

बिहार विधानसभा चुनाव का ऐलान  हो चुका है वही कांग्रेस के सामने अपनी साख को बचाए रखने की चुनौती है, जिसे लेकर पार्टी में माथापच्ची चल रही है.दरसल  आपको बता  तेजस्वी यादव के अगुवाई वाले महागठबंधन में जूनियर पार्टनर के तौर पर शामिल कांग्रेस के कोटे में 70 सीटें आई हैं ये बात  भी सही है की पहली बार है जब कांग्रेस के नेता भी कन्फ्यूजन में हैं कि आखिर पार्टी किन 70 सीटों पर  चुनाव लड़ेगी. पार्टी में इसको लेकर  कांग्रेस  खेमे में जोर आजमाइस  शुरू हो चुकी है सात अक्टूबर को 21 सीटों की उम्मीदवारों की पहली लिस्ट आई तो पार्टी में अफरा-तफरी मच गई. कांग्रेस की पहली लिस्ट में बाहरी लोगों को ही खास तवज्जो मिली है. बिहार के चुनाव के दूसरे चरण का नामांकन चल रहा है और तीसरे चरण के नामांकन की प्रक्रिया जारी है. ऐसे में कांग्रेस की 49 सीटों पर अभी भी उम्मीदवारों के नामों को ऐलान होना है, जिसके चलते पार्टी में कशमकश की स्थिति बनी हुई है वही पार्टी नेता नाराज भी नजर आ रहे है

बिहार के दलित वोट बैंक का ‘चिराग’ बुझेगा या होगा रोशन!

हालांकि, कांग्रेस का मानना है की बिहार में नीतीश सरकार के खिलाफ माहौल है, जिसे महागठबंधन बेहतर तरीके से भुना सकता है. ऐसे में पार्टी अपने स्टार प्रचारकों को उतारने का मन बना चुकी है. राहुल गांधी और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी भी बिहार की सियासी रणभूमि में उतरकर पार्टी के लिए माहौल बनाने का काम करेंगे. राहुल की बिहार में करीब 6 रैलियां कराने का प्लान है.वही कांग्रेस महासचिव रणदीप सुरजेवाला 15 तारीख को पटना जाएंगे, उसके बाद ही राहुल गांधी की प्रक्रीया शुरू होगी दरसल  आपको बता दे कांग्रेस की पहली लिस्ट आने के बाद पार्टी हाईकमान ने रणदीप सुरजेवाला को बिहार चुनाव की कमान सौंपी है. पिछले कुछ महीनों में जिस तरह से रणदीप सुरजेवाला पर राहुल गांधी ने विश्वास जताया है उसके आधार पर कहा जा सकता है कि सुरजेवाला पार्टी आलाकमान के सबसे विश्वास पात्र के रूप में उभरे हैं. बिहार की वाल्मीकि नगर लोकसभा सीट पर उपचुनाव होना है, जहां कांग्रेस को चुनावी मैदान में उतरना है. कांग्रेस ने इस सीट पर अभी तक प्रत्याशी के नाम का ऐलान नहीं किया है. इस सीट पर पार्टी की सुपौल से पूर्व सांसद रंजीता रंजन यादव भी दावेदारी कर रही हैं. रंजीता रंजन की दावेदारी से टिकट फाइनल थोड़ा मुश्किल हो गया है, क्योंकि कई नेता और भी हैं, जो इस सीट से चुनाव लड़ने की जुगत में हैं. यही वजह है कि अभी तक पार्टी यहां से अपने प्रत्याशी का नाम घोषित नहीं कर सकी

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है