मोदी सरकार UPSC सिविल सेवा परीक्षा की उम्र सीमा घटाकर करने जा रही है इतनी…

UPSC सिविल सेवा परीक्षा के लिए उम्र सीमा घटाकर 26 वर्ष हो गई है। ये बात सभी को परेशान कर रही है। एक खबर के मुताबिक उम्र सीमा घटाने का फैसला सिर्फ जनरल कैटेगरी के उम्मीदवारों के लिए लिया गया है। वहीं भारत सरकार के प्रेस सूचना कार्यालय ने इस खबर का खंडन किया है।

सोशल मीडिया पर इन दिनों एक खबर वायरल हो रही है जिसमें कहा जा रहा है कि संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) ने सिविल सेवा परीक्षा की अधिकतम उम्र सीमा 32 वर्ष से घटकर 26 वर्ष कर दी है। इस खबर में यह भी कहा गया है कि उम्र सीमा घटाने का फैसला सिर्फ जनरल कैटेगरी के उम्मीदवारों के लिए लिया गया है।

अखबार की कटिंग के रूप में वायरल खबर में यह भी लिखा है कि सरकार को सिविल सेवाओं में युवा अफसर चाहिए इसलिए यह फैसला लिया गया है। लेकिन यह खबर पूरी तरह फर्जी है। भारत सरकार के प्रेस सूचना कार्यालय ने इस खबर का खंडन किया है। सरकार की फैक्ट चैक ऑर्गेनाइजेशन पीआईबी फैक्ट चैक ने इस खबर को पूरी तरह फेक करार दिया है। पीआईबी फैक्ट चैक ने कहा है कि यूपीएससी द्वारा ऐसा कोई निर्णय नहीं लिया गया है।

पीआईबी फैक्ट चैक ने ट्वीट कर कहा, ‘दावा: एक न्यूज़ आर्टिकल में यह दावा किया जा रहा कि सामान्य वर्ग के छात्रों के लिए यूपीएससी सिविल परीक्षा देने की अधिकतम उम्र 32 वर्ष से घटकर 26 वर्ष होने जा रही है। #PIBFactCheck: यह दावा फर्जी है। यूपीएससी द्वारा ऐसा कोई निर्णय नहीं लिया गया है।’

यूपीएससी भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस), भारतीय विदेश सेवा (आईएफएस), भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस), भारतीय राजस्व सेवा (आईआरएस) समेत की तरह की सिविल सेवओं के लिए अधिकारियों का चयन करने के लिए प्रतिवर्ष तीन चरणों में प्रारंभिक, मुख्य और साक्षात्कार सिविल सेवा परीक्षा आयोजित कराती है। इस भर्ती परीक्षा में हर साल करीब 8 लाख युवा बैठते हैं। वर्तमान में इस भर्ती परीक्षा के लिए आयु की न्यूनतम सीमा 21 वर्ष और अधिकतम 32 वर्ष तय की हुई है। एससी, एसटी वर्ग के उम्मीदवारों का पांच वर्ष और ओबीसी को तीन वर्ष की छूट है। किसी भी स्ट्रीम से ग्रेजुएट व्यक्ति इसके लिए आवेदन कर सकते हैं।

ज़रूरी बात ऐसी किसी भ्रामक खबर की यहां करें शिकायत – बता दें कि सरकार से जुड़ी कोई खबर सच है या फर्जी, यह जानने के लिए PIB Fact Check की मदद ली जा सकती है। कोई भी व्यक्ति PIB Fact Check को संदेहात्मक खबर का स्क्रीनशॉट, ट्वीट, फेसबुक पोस्ट या यूआरएल वॉट्सऐप नंबर 8799711259 पर भेज सकता है या फिर pibfactcheck@gmail.com पर मेल कर सकता है।

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है