सुनहरा अवसर: कोरोना वायरस  के कारण कम हो सकती है घर-जमीन की कीमत

रियल एस्टेट सेक्टर 10 से 20 और जमीन 30 फीसदी तक सस्ती हो सकती है।

Coronavirus (कोरोना वायरस) का असर देश में Real Estate Sector (रियल एस्टेट सेक्टर) पर भी दिख रहा है। मांग में कमी के कारण संपत्ति 10 से 20 और जमीन 30 फीसदी तक सस्ती हो सकती है। Reuters (रॉयटर्स) ने अपने एक सर्वेक्षण में इस मूल्य कटौती का आकलन किया है। संपत्ति को लेकर परामर्श देने वाली कंपनी एनरॉक के अनुसार, कोरोना वायरस संक्रमण के कारण, देश के सात बड़े शहरों में घरों की बिक्री इस साल 35 प्रतिशत तक गिर सकती है।

आदित्य बिड़ला समूह ने PM केयर फंड में दान किए 500…

यह पिछले एक दशक में सबसे बड़ी गिरावट होगी। रॉयटर्स के अनुसार, पिछले कुछ दशकों में संपत्ति की कीमतों में भारी वृद्धि हुई थी, लेकिन कोरोना संकट के कारण अब यह सुधार के दौर से गुजर रहा है। इस संदर्भ में, रियल एस्टेट कंसल्टेंसी फर्म Lias Forras (लिआस फोरास) के सीईओ Pankaj Kapoor (पंकज कपूर) ने कहा कि देश के विभिन्न क्षेत्रों में संपत्ति की कीमतें 10-20 प्रतिशत तक गिर सकती हैं। जबकि जमीन की कीमतों में 30 फीसदी तक की गिरावट आ सकती है। वहीं एनरॉक प्रॉपर्टी कंसल्टेंट्स के चेयरमैन अनुज पुरी ने कहा, ‘‘नरम मांग तथा नकदी की खराब स्थिति से पहले से ही जूझ रहे भारतीय रियल एस्टेट क्षेत्र पर कोविड-19 के कारण भी प्रतिकूल असर देखने को मिल सकता है।’’

सोशल डिस्टेंसिंग के लिए Google का प्लान

एनबीएफसी संकट के कारण Real Estate company (रियल एस्टेट कंपनियों) के साथ लिक्विडिटी की कमी के कारण पिछले साल स्थिति खराब हो गई थी। डेवलपर्स को छूट की पेशकश करनी पर रही थी। अब खरीदार बड़ी कटौती की उम्मीद कर सकते हैं। भारत में कोरोना को रोकने के लिए 14 अप्रैल तक Lockdown (लॉकडाउन) लागू किया गया है, जिसने रेसिडेंशियल रियल एस्टेट संपत्ति को बुरी तरह प्रभावित किया है।

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है