इकोनॉमी और शेयर बाजार के आएंगे अच्छे दिन

कोरोना के कारण देश में मची उथल-पुथल के बीच वित्त मंत्री की घोषणाओं ने लोगों को काफी राहत की सांस दी।

कोरोना के कहर से पूरी दुनिया जूझ रही है। ऐसे में शेयर मार्केट भी अछूता नहीं है। कोरोना के प्रकोप ने शेयर बाजार में जबरदस्त गिरावट के साथ इतिहास रच दिया। आंकड़ों के अनुसार 3934 अंकों की गिरावट दर्ज की गई है। अगर इस पूरे साल की बात की जाए तो अब तक 15325 अंकों की गिरावट का रिकॉर्ड सामने आया है जिसमे मार्च में 12316 अंकों की गिरावट देखी गई है।

वित्त मंत्री के भाषण का शेयर बाजार पर कितना असर?

शेयर बाजार में जबरदस्त गिरावट के बाद कल केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की प्रेस कॉन्फ्रेंस का बड़ा ही सकारात्मक प्रभाव शेयर मार्केट पर देखने को मिला। कोरोना के कारण देश में मची उथल-पुथल के बीच वित्त मंत्री की घोषणाओं ने लोगों को काफी राहत की सांस दी। इतिहास की सबसे बड़ी गिरावट दर्ज कराने के बाद वित्त मंत्री के भाषण के साथ ही सेंसेक्स 1244 की तेजी के साथ 27,225 पर रहा तो वहीं निफ्टी में 344 अंकों की तेजी दर्ज की गई।

अब घर बैठे-बैठे मिलेंगी फल और सब्जियां, बिग बाजार देगा डोरस्टेप डिलिवरी

लॉकडाउन की स्थिति में कैसे काम करेगा शेयर बाजार?

पूरे देश में लॉकडाउन है ऐसे में निवेशकों के मन में सवाल उठना लाजिमी है कि शेयर बाजार खुलेगा या नहीं तो आपको स्पष्ट कर दें कि पूंजी बाजार नियामक सेबी और शेयर बाजारों ने कार्य अवधि में कटौती के तमाम सुझावों को खारिज कर दिया है और अपने ब्रोकर्स को घर से काम यानि की वर्क फ्रॉम होम की सुविधा दी है। इस सुविधा को फिलहाल 30 अप्रैल तक जारी रखने का निर्णय लियया गया है और जरूरत के हिसाब से संशोधन भी किया जा सकता है।

इकोनॉमी पर कोरोना के असर से निपटने के लिए पीएम का ऐलान

कोरोना के कहर ने दुनिया में हाहाकार मचा दिया है। जान है तो जहान है इसी बात को ध्यान में रखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हरसंभव मदद देशवासियों तक पहुंचाने का काम कर रहे हैं और लोगों से घर पर सुरक्षित रहने की अपील भी कर रहे हैं लेकिन मौजूदा हालात को देखते हुए अर्थव्यवस्था को लगने वाले झटके के प्रति भी पीएम मोदी गंभीर हैं और इसी को देखते हुए पीएम मोदी ने इकोनॉमिक टास्क फोर्स के गठन का भी ऐलान किया जिसकी कमान वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण संभालेंगी।

शेयर बाजार पर कोरोना का कहर, सेंसेक्स-निफ्टी में भारी गिरावट

कैसे काम करेगा इकोनॉमिक टास्क फोर्स?

जगजाहिर है कि कोरोना ने हर सेक्टर को प्रत्यक्ष रूप से प्रभावित किया है। ऐसे में किस सेक्टर को कितना नुकसान उठाना पड़ रहा है और इस नुकसान से उस सेक्टर को कैसे उबारा जा सकता है इसी लक्ष्य के साथ इकोनॉमिक टास्क फोर्स का गठन किया गया है। इस फोर्स के माध्यम से हर सेक्टर के पुनरोद्धार पर कार्यय किया जाएगा। इकोनॉमिक टास्क फोर्स प्रत्येक सेक्टर के नुकसान का आंकलन कर उसके पुनरोद्धार के लिए सुझाव देगा।

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं