भक्तों का कष्ट होगा दूर, माता रानी बरसाएगी कृपा

मान्यता है कि नवरात्र में सच्चे मन से अराधना और पूजा करने से माता अपने भक्तों पर विशेष कृपा बनाती है

नवरात्रों के दिन करीब आते जा रहे है। हर साल मुख्य रूप से दो नवरात्रें मनाएं जाते है, तो वहीं 25 मार्च से चैत्र नवरात्रि और हिंदू नववर्ष आरंभ हो रहे है। जो नौ दिन तक चलते हैं। इन नौ दिनों में देवी की नौ अलग-अलग रूपों में पूजा की जाती है। बता दें कि चैत्र नवरात्रि के पहले दिन कलश स्थापना की जाती है। चैत्र नवरात्रि से ही नया हिंदू नववर्ष शुरू हो जाता है। मान्यता है कि नवरात्र में सच्चे मन से अराधना और पूजा करने से माता अपने भक्तों पर विशेष कृपा बनाती है और भक्तों के सारे कष्ट दूर हो जाते हैं। चैत्र महीने को हिंदू नववर्ष का पहला महीना भी माना जाता हैं। तो आइए आपको बताते हैं इस बार चैत्र नवरात्रि में क्या है खास…

मनोकामना पूरी करने वाले गुप्त नवरात्र में ऐसे करें पूजा

  1. इस दिन से चैत्र नवरात्रि के साथ नया विक्रम संवत 2077 भी शुरू हो जाएगा।
  2. नए विक्रम संवत 2077 का नाम प्रमादी रहेगा।
  3. प्रमादी विक्रम संवत 2077 के राजा बुध और मंत्री चंद्रमा होंगे।
  4. चैत्र नवरात्रि के दिन गुड़ी पड़वा और झूलेलाल जयंती भी मनाई जाती हैं।
  5. चैत्र नवरात्रि नौ दिन 25 मार्च से शुरू होकर 2 अप्रैल तक चलेगें।

इसके साथ ही इस नवरात्रि में एक विशेष संयोग भी बनता दिख रहा है बता दें कि इस बार गुरु, मंगल और शनि का योग बनेगा, जिसमें ये तीनों ग्रह मकर राशि में एक साथ रहेंगे। इसलिए मकर राशि वालों के लिए ये दिन बहुत खास होंगे। तो आइए जानते हैं नौ दिन की नौ देवियों के बारे में-

चलिए हम बताते हैं नवरात्रि के दिनों में आपको क्या करना चाहिए और क्या…

पहले दिन देवी शैलपुत्री
दूसरे दिन ब्रह्मचारिणी
तीसरे दिन चंद्रघंटा
चौथे दिन कूष्मांडा
पांचवें दिन स्कंध माता
छठें दिन कात्यायिनी
सातवें दिन कालरात्रि
आठवें दिन महागौरी
नौवें दिन सिद्धिदात्री

 

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं