Navratri 2020: नवरात्र का पहला दिन है बेहद खास, जानें वजह

0
47

कोरोना के खतरे के बीच सूर्य संक्रांति पड़ने से नवरात्र बना खास

आज नवरात्री का पहला दिन है। एक तरह जहां कोरोना का खतरा अभी भी बाक़ी है वहीं लोग सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए त्योहार मनाने को तैयार हो चुके हैं। नवरात्री पर इस बार तीन विशेष संयोग बन रहे हैं। मां भगवती का आगमन घोड़े पर होगा और विदाई हाथी पर होगी।

ज्योतिषाचार्यों के मुताबिक सूर्य संक्रांति पड़ने से नवरात्र का पहला दिन बेहद खास होगा। बता दें कि इस बार शारदीय नवरात्र में तीन विशेष संयोग बन रहे हैं। पहला संयोग करीब 58 साल बाद बन रहा है। शनि और बृहस्पति अपनी-अपनी राशि मकर और धनु में संचार करेंगे। दूसरे संयोग में सत्रह अक्तूबर को सूर्य की संक्रांति पड़ रही है। इस दिन सूर्य तुला राशि में प्रवेश करेंगे।

  • नवरात्र 17 से 25 अक्तूबर तक होंगे।
  • कलश स्थापना सुबह 6:25 से 10:10 बजे तक
  • पूर्वाह्न 11:42 से 12:27 बजे अभिजीत मुहूर्त में और अपराह्न बारह बजे से साढ़े चार बजे तक होगी।
  • दूसरा स्थिर लग्न वृष रात में 07:06 से 09:02 बजे तक होगा परंतु चौघड़िया 07:30 तक ही शुभ है अतः 07:08 से 07:30 बजे के बीच मे कलश स्थापना किया जा सकता है।

सूर्य की संक्रांति पड़ने से इस दिन किए गए पूजन-दान का फल हजार गुना अधिक हो जाता है। तीसरा और प्रमुख संयोग पूरे नवरात्र में सात दिन विशेष संयोग पडेंगे। इन योगों में शुभ कार्य करने से कार्य सिद्धि होती है और विशेष लाभ मिलता है। इस बार मां दुर्गा का आगमन घोड़े पर होगा। इस दौरान नियम, संयम, खान-पान का विशेष ध्यान रखना चाहिए। मां दुर्गा का पूजन कर सोलह श्रृंगार अर्पण करना चाहिए।

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है